Thursday, April 12, 2018

हाफ़िज़ सईद को लेकर अब फंसा पाकिस्तान


आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान की हालत सांप छछूंदर जैसी हो गयी है आतंकवाद का कड़वा जहर जो भारत को मारने के लिए उसने बनाया था, वही अब  उसके ही गले में अटक गया है आतंकवाद का सरगना बन चुके हाफिज सईद पर रोक लगाने को लेकर पाकिस्तान की जान पर बन आई है खबर है कि पाकिस्तान अब कानून बनाने जा रहा है जिससे हाफिज सईद और #कट्टरपंथी #इस्लाम की आड़ में आतंक फैलाने वाले अन्य #मजहबी #गिरोहों पर स्थायी रोक लग सके

याद रहे कि फाईनेशियल एक्शन टॉस्क फोर्स की (FATF) फरवरी में पेरिस में हुई बैठक में पाकिस्तान को ग्रे निगरानी सूची में डालने का फैसला किया गया है जून के महीने से पकिस्तान के आर्थिक  लेनदेन पर कड़ी पाबन्दिया लगने जा रहीं हैं अन्तराष्ट्रीय बिरादरी पाकिस्तान पर लगातार सख्त होती जा रही है इससे पाकिस्तान के पास हाफिज सईद जैसे लोगों की नकेल कसने के सिवाय और कोई चारा नहीं  रह गया है

जाहिर तौर पर वह जमातुद्दवा नाम और फलाह इंसानियत नाम के  संगठन चलाता हैं जो कथित तौर पर समाज सेवा में लगे हुए हैंऔर तो और हाफिज सईद  ने मिल्ली मुस्लिम नाम से एक पार्टी भी बना ली है आने वाली जुलाई में  होने वाले पाकिस्तान के आम चुनावों में हिस्सा लेने की उसकी इच्छा है पर ये बात अब दुनिया पूरी तरह जान चुकी  है कि हाफिज सईद #भारत के खिलाफ #मुंबईहमलों सहित आतंक के कई मामलों का सरगना है लश्करे तैयबा के पीछे भी उसीका हाथ है  उसके सर पर #अमेरिका ने भी  ७० करोड़ रूपये का इनाम रखा हुआ है पाकिस्तान की सरकार और वहां की अदालतों का हाफिज सईद को लेकर रवैया हमेशा ढूलमुल रहा है अन्तराष्ट्रीय दबाव पडऩे पर उसे पकड़ लेना और फिर छोड़ देना- वहां ऐसा चलता रहा है

दरअसल पाकिस्तान का निजाम हाफिज सईद और उसके जैसे कई आतंकवादियों को विदेश नीति के एक हथियार के रूप में लम्बे समय से इस्मेमाल करता रहा है आतंकवाद से लडऩे के नाम पर पाकिस्तान ने अमेरिका से अरबों डॅालर झटके  हैं भारत के निरन्तर दबाव और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के कड़े रवैये पाकिस्तान  हालत अब इतनी पतली हो गयी है कि  उसकी अर्थव्यवस्था अब घुटनों पर गयी है पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार पाकिस्तान की राष्ट्रीय असेम्बली के आजकल चल रहे  सत्र में ही हाफिज सईद और कुछ और आतंकी संगठनों पर स्थायी रोक लगाए जाने का कानून पास कर दिया जाएगा

लेकिल सिर्फ कानून बनाने से #पाकिस्तान का काम नहीं चलेगा #आतंक को भारत - अफगानिस्तान के खिलाफ इस्तेमाल करते-करते जनरल जियाउलहक के जमाने से ही पाकिस्तान में मजहबी कट्टरता की एक फसल बोई  गई है सरकारों और सेना की लगाई आतंकी खेती की फसल अब पूरे पाकिस्तान में लहलहा रही है दूसरों का नुकसान करने कर ख्वाहिश  में #इस्लामी #कट्टरता, #जिहाद और #आतंकवाद का ये ज़हर #पाकिस्तानी दिलोदिमाग में फैल गया है

दुनिया का डंडा पडने के बाद पाकिस्तान अब  #हाफिजसईद पर पाबंदी लगाने तो  जा रहा है पर  असली काम तो  पाकिसतान की मानसिकता पर छाए #मजहबी #उन्माद को खत्म करने का  है  उम्मीद की जानी चाहिए कि पाकिस्तान को अकल गई है और वो हाफिज सईद जैसों का स्थायी इंतजाम करने के साथ-साथ #जिहादी मानसिकता का भी इलाज करेगा यही पाकिस्तान और दुनिया के हित में है

#FATF #Pakistan #Terrorism


उमेश उपाध्याय